The बनारस City

The बनारस City

सुबह बनारस शाम बनारस, जब देखो रास्ता जाम बनारस
कचहरी बनारस कालेज बनारस रास्ते भर थूकते पान बनारस
गाय बनारस बानर बनारस रास्ते भर घूमते छुट्टा सांड बनारस
साधु बनारस फ़क़ीर बनारस करते है बहुभेस बनारस

कचौड़ी बनारस जलेबी बनारस कुल्हड़ फेंके चहुओर बनारस
साइकिल बनारस मोटरसाइकिल बनारस चढ़ते चार-चार लोग बनारस
तालाब बनारस नदी बनारस गंगा मैली सवओर बनारस
ठेला बनारस रिक्सा बनारस टेम्पू करते रास्ता जाम बनारस

नारी बनारस नर बनारस बोले हर हर बम बनारस
शंख बनारस घंटा बनारस डमरू बोले डम डम बनारस
दारू बनारस भंग बनारस गुटका बिके चहुओर बनारस
रेल बनारस बस बनारस रहते दलाल हर क्षण बनारस

नाली बनारस मेनहोल बनारस पन्नी फेके हर ओर बनारस
कृष्ण लीला बनारस रामलीला बनारस चरखी बोले चर चर बनारस
छठ पूजा बनारस देवदीपावली बनारस आरती देखे गंगा घाट बनारस
रंग बनारस ढंग बनारस “लाल” रहे अलमस्त बनारस! मेवालाल

Originally Authored by elder brother Sujeet Kumar and publish by Ravi Singh Jaiswar

One Thought on The बनारस City

Leave a Comment